TATA Sons ने एन चंद्रशेखरन को Air India का अध्यक्ष नियुक्त किया

TATA Sons ने एन चंद्रशेखरन को मुंबई, भारत में स्थित एक सरकारी स्वामित्व वाली एयरलाइन एयर इंडिया के अध्यक्ष के रूप में नियुक्त किया। पिछले अध्यक्ष द्वारा व्यक्तिगत कारणों का हवाला देते हुए पिछले सप्ताह अपने पद से इस्तीफा देने के बाद यह नियुक्ति हुई है। चंद्रशेखरन अश्विनी लोहानी का स्थान लेंगे, जिन्होंने पहले रेलवे बोर्ड के अध्यक्ष के रूप में कार्य किया था और फरवरी 2017 में एयर इंडिया के अध्यक्ष के रूप में नियुक्त किया गया था।

रतन टाटा ने की घोषणा

श्री चंद्रशेखरन वर्तमान में टाटा कंसल्टेंसी सर्विसेज (टीसीएस) के सीईओ और प्रबंध निदेशक हैं। वह प्रदीप सिंह खरोला से पदभार संभालेंगे, जो जून 2016 से अंतरिम अध्यक्ष हैं, जब तत्कालीन अध्यक्ष अश्विनी लोहानी को एक विवादास्पद कदम में मोदी सरकार ने हटा दिया था। – सीएनएन बिजनेस। नटराजन चंद्रशेखरन टाटा संस में गैर-कार्यकारी निदेशक के रूप में शामिल हुए हैं, जबकि टीसीएस के प्रवीण खंडेलवाल को उस बोर्ड में अतिरिक्त निदेशक के रूप में नियुक्त किया जाएगा। उसी घोषणा में कहा गया है कि वह बाद में टाटा स्टील का प्रभार ग्रहण करेंगे। यह उन्हें टाटा समूह के 100 वर्षों के इतिहास में किसी भी कंपनी का नेतृत्व करने वाला पहला बाहरी व्यक्ति बनाता है!

श्री टाटा, जो टाटा संस में मानद चेयरमैन का पद संभालते हैं, एयर इंडिया के बोर्ड में बने रहेंगे

टाटा संस। चंद्रशेखरन ने प्रदीप सिंह खरोला का स्थान लिया है, जो बोर्ड में बने रहेंगे और चेयरमैन एमेरिटस के अपने वर्तमान पद पर बने रहेंगे। टाटा ने मंगलवार को एक बयान में कहा कि वह रणनीतिक मामलों पर चंद्रशेखरन को सलाह देंगे।

  • श्री चंद्रा के पास एयर इंडिया और उसकी सहायक कंपनियों में श्री रतन एन टाटा द्वारा धारित सभी कार्यकारी और गैर-कार्यकारी निदेशकों की जिम्मेदारी होगी।

एलाइड सर्विसेज लिमिटेड, एयरलाइन एलाइड सर्विसेज लिमिटेड, होटल कॉर्पोरेशन ऑफ इंडिया और एआईएसएटीएस, टाटा के हवाई परिवहन हितों के लिए एक निवेश कंपनी। वह टाटा मोटर्स और टाटा केमिकल्स सहित कंपनियों में गैर-कार्यकारी निदेशक के रूप में श्री टाटा को सलाह देने की जिम्मेदारी भी संभालेंगे। श्री चंद्रा वर्तमान में टीसीएस के प्रबंध निदेशक हैं, जिसका पिछले साल राजस्व में $17 बिलियन था; वह टीसीएस के बाहर श्री टाटा के व्यावसायिक हितों की देखरेख करने वाली अपनी नई जिम्मेदारियों के अलावा उस भूमिका को बनाए रखेंगे।

श्री चंद्रा को नामित करने के निर्णय को टाटा द्वारा विमानन क्षेत्र में अपनी उपस्थिति को मजबूत करने के एक कदम के रूप में देखा जा रहा है

टाटा समूह के एक प्रवक्ता ने कहा कि चंद्रा का विमानन क्षेत्र के साथ एक लंबा जुड़ाव रहा है और उनके पास एयरलाइंस और हवाई अड्डों सहित मल्टी-मोडल व्यवसायों के प्रबंधन का समृद्ध अनुभव है। श्री चंद्रा ने भारती एयरटेल और इंडियन होटल्स कंपनी लिमिटेड में अपने कार्यकाल के दौरान प्रमुख व्यावसायिक परिवर्तनों को सफलतापूर्वक संचालित किया है।

एयर इंडिया के पूर्व सीएमडी अश्विनी लोहानी ने भी श्री चंद्रा को बधाई दी

  • बधाई! @NCचंद्रसेकरन टाटा ने आपका बहुत सम्मान किया है। अश्विनी लोहानी से एन चंद्रशेखरन: बधाई हो!
  • सरकार द्वारा उड्डयन क्षेत्र की पहचान एक ऐसे क्षेत्र के रूप में की गई है जहां प्रत्यक्ष विदेशी निवेश (एफडीआई) की वर्तमान 26 प्रतिशत सीमा से कई क्षेत्रों में स्वत: मार्ग के माध्यम से प्रत्यक्ष विदेशी निवेश (एफडीआई) की अनुमति दी जाएगी, जिसमें एफडीआई पर मौजूदा नियमों के तहत हवाई परिवहन सेवाएं शामिल हैं।

एन चंद्रशेखरन को तत्काल प्रभाव से एयरलाइन एयर इंडिया का अध्यक्ष नियुक्त किया गया है। वह एयर इंडिया लिमिटेड के बोर्ड में निदेशक के रूप में नियुक्त होने के लिए भी पात्र होंगे। एन चंद्रशेखरन वर्तमान में टाटा संस लिमिटेड में सेवारत हैं और 28 फरवरी, 2018 को होने वाली सेवानिवृत्ति तक अध्यक्ष का पद संभालते रहेंगे।

श्री चंद्रा ने आज यहां एयर इंडिया हाउस में अपनी नियुक्ति के बाद अपने स्वीकृति भाषण में कहा, मैं एयर इंडिया को वास्तव में वैश्विक भारतीय वाहक बनाने के अपने सामूहिक सपने को साकार करने के लिए अपने कर्मचारियों के साथ काम करने के लिए उत्सुक हूं।

श्री चंद्रा टाटा स्टील लिमिटेड में एक अतिरिक्त निदेशक भी हैं। उन्होंने टाटा मोटर्स, इंडियन होटल्स कंपनी और टीसीएस सहित अन्य टाटा समूह की कंपनियों के अतिरिक्त निदेशक के रूप में भी काम किया है। उन्होंने क्षेत्रीय इंजीनियरिंग कॉलेज, त्रिची से मैकेनिकल इंजीनियरिंग में स्नातक की डिग्री प्राप्त की है और एक योग्य लागत और कार्य लेखाकार (आईआईसीडब्ल्यूए) हैं।

  • एक चार्टर्ड अकाउंटेंट, उन्होंने बोस्टन कंसल्टिंग ग्रुप के साथ अपना करियर शुरू किया और बाद में 1995 में मुंबई स्थित कंसल्टेंसी फर्म एवरेस्ट ग्रुप में शामिल होने से पहले बैन एंड कंपनी और अरविंद मिल्स के साथ काम किया।
  • 2013 में, उन्हें टाटा कंसल्टेंसी सर्विसेज लिमिटेड (TCS) का मुख्य कार्यकारी अधिकारी नामित किया गया, जो भारत के सबसे अधिक वेतन पाने वाले अधिकारियों में से एक बन गया। वह इंडियन होटल्स कंपनी, टाटा स्टील और टाटा मोटर्स सहित कई टाटा कंपनियों के बोर्ड में भी कार्यरत हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published.